क्रैनबेरी क्या है और इसको खाने के फायदे | Cranberry in Hindi

वैसे दुनिया में कई प्रकार के फल उपलब्ध हैं जैसे सेव,केला, आम, पपीता, अनार, अंगूर जैसे और भी बहुत प्रचलित फल हैं जिन्हें लोग बड़े चावसे खाते हैं। लेकिन इनके अलावा भी बहुत सारे ऐसे फल है जो ज्यादा प्रचलित नहीं है लेकिन उनका सेवन करने से बहुत फायदे मिलते हैं। इन्ही फल में से एक फल का नाम है क्रैनबेरी।

दरअसल क्रैनबेरी एक विदेशी फल जो सभी देशो में नहीं मिलता है। क्रैनबेरी फल देखने बहुत सुन्दर दिखाई देता है और खाने में स्वादिष्ट भी होता है। शायद यही वजह है जो इस फल की ख्याति दुनिया में बहुत तेजी से बढ़ रही है।

क्रैनबेरी क्या है – What is Cranberry in Hindi

cranberry ke fayde in hindi

क्रैनबेरी एक बेरी फल है जो सदाबहार झाड़ियों में उगता है। क्रैनबेरी फल पहले केवल पूर्वी अमेरिका के घने जंगलों में पाया जाता था लेकिन अब इसकी खेती कई देशो में होने लगी है। क्रैनबेरी आकर में गोल और छोटा होता है जो देखने में बिलकुल करौंदे जैसे होता है।

क्रैनबेरी का इस्तेमाल ड्राई क्रैनबेरी, क्रैनबेरी सॉस और क्रैनबेरी जूस के रूप में किया जाता है। क्रैनबेरी खाने से कैसे स्वस्थ लाभ मिलते है और कई बिमारियों को ठीक करने में इसका इस्तेमाल किया जाता है। क्रैनबेरी में विटामिन सी, विटामिन ई, विटामिन ए, विटामिन डी, विटामिन के, विटामिन-बी 6 और विटामिन-बी 12, पेंटोथेनिक एसिड, रिबोफ्लाविन, थियामिन, नियासिन फास्फोरस, मैगनीज, कॉपर, सेलेनियम, आयरन जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। तो चलिए अब जानते हैं क्रैनबेरी का सेवन करने से कौन-कौन से फायदे होते हैं-

1. स्वस्थ हृदय के लिए क्रैनबेरी का प्रयोग

क्रैनबेरी में एंटीऑक्सीडेंट तत्त्व मौदूद होते है जो कि हृदय को स्वस्थ बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। शोध से पता चला है कि क्रैनबेरी का सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल नियंत्रित रहता है। आपको बता दें कि हमारे शरीर में दो प्रकार के कोलेस्ट्रॉल होते हैं एचडीएल (अच्छा कोलेस्ट्रोल) और एलडीएल (ख़राब कोलेस्ट्रोल)। इन दोनों कोलेस्ट्रॉल के बीच संतुलन होना बहुत आवश्यक होता है।

क्रैनबेरी का जूस पीने से शरीर में कोलेस्ट्रोल की मात्रा सामान्य रहती है जिससे हृदय रोग का खतरा कम हो जाता है। इसके साथ ही ब्लड शुगर के स्तर को भी नियंत्रित करने में मदद करता है।

2. प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए

अगर शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर पड़ जाती है तो लोग जल्दी बीमार होने लगते है। आपने अक्सर देख होगा कि ज़रा से मौसम परिवर्तन होने पर कुछ लोग जल्दी बीमार पड़ जाते हैं और कुछ लोगो पर इसका आसार भी नहीं होता तो यह सब कमाल होता है शरीर में प्रतिरोधक क्षमता का।

क्रैनबेरी में विटामिन-सी ,फाइटोकेमिकल्स, एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी माइक्रोबियल तत्व पाए जाते हैं जो शरीर में संक्रमण को  बढ़ने से रोकने में मदद करते हैं। साथ ही क्रैनबेरी का सेवन करने से प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती हैं।

3. वजन घटाने में मददगार

वजन बढ़ना एक गंभीर समस्या है जिससे कई लोग जूझ रहे हैं। अगर समय रहते बढ़ते वजन को नियंत्रित न किया जाए तो इससे कई बीमारियाँ होने का खतरा रहता है। क्रैनबेरी एक ऐसा फल है जिसमे फाइबर, विटामिन, खनिज और एंटीऑक्सीडेंट तत्व प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं।

क्रैनबेरी का सेवन करने से लंबे समय तक पेट भरा भरा महसूस होता और धीरे धीरे वजन भी कम होता है। क्रैनबेरी आपको पर्याप्त ऊर्जा और पोषक तत्व प्रदान करता है इसलिए वजन कम करने के लिए अपने आहार में क्रैनबेरी को जरुर शामिल करें।

4. क्रैनबेरी बनाये त्वचा को खूबसूरत

त्वचा को जवान और खूबसूरत बनाये रखने के लिए कई सारे पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है। कई लोग ऐसे होते हैं जो खूबसूरत त्वचा पाने के लिए दवाइयों को सेवन करते हैं लेकिन इनके फायदे कम और नुकसान ज्यादा देखने को मिलते हैं।

अपनी त्वचा को खूबसूरत बनाने के लिए क्रैनबेरी का इस्तेमाल कर सकते हैं। क्रैनबेरी में विटामिन सी, विटामिन ई, विटामिन डी, प्रोटीन और एंटीऑक्सीडेंट तत्त्व प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं जो त्वचा को डिहाइड्रेट होने से बचाते हैं, साथ ही त्वचा को खूबसूरत बनाने में मदद करते हैं।

5. क्रैनबेरी बालों की अच्छी ग्रोथ के लिए

बाल की समस्या एक आम समस्या है जिससे कई लोग परेशान रहते हैं। आज कल भागदौड भरी ज़िंदगी में लोग अनियत दिनचर्या और गलत खानपान का सेवन करते हैं जिसके परिणामस्वरुप कम उम्र में लोगो के बाल सफ़ेद, पतले और झड़ने लगते हैं।

क्रैनबेरी में विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई और प्रोटीन की भरपूर मात्रा पाई जाती हैं जो बालों की अच्छी ग्रोथ करते हैं। बालो की समस्या से छुटकारा पाने के लिए क्रैनबेरी का सेवन करना चाहिए।

6. क्रैनबेरी किडनी को रखे स्वस्थ

किडनी शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग होता हैं। किडनी हमारे शरीर से हानिकारक पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है। हम जो भी खाद्य पदार्थ का सेवन करते हैं उसमें पोषक तत्वों के साथ साथ कुछ हानिकारक पदार्थ भी हमारे शरीर में प्रवेश कर जाते हैं। किडनी शरीर से हानिकारक पदार्थों को छान कर अलग करके यूरीन या मूत्र के माध्यम से बाहर निकालने में मदद करती है।

क्रैनबेरी में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-ऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं जो किडनी रोग जैसे कि सूजन और ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस के प्रभाव को कम करने में मदद करता हैं। इसके अलावा क्रैनबेरी में पाए जाने वाला एंटीलिथोजेनिक तत्व किडनी स्टोन की समस्या को दूर करने में मदद करता है।

7. पाचन तंत्र को मजबूत बनाने में

अगर आपका पाचन क्रिया सही नहीं रहेगी तो इसका असर आपके सेहत पर भी पडेगा। इसके साथ ही पाचन क्रिया ख़राब होने से कब्ज, गैस, सूजन, पेट खराब होना और थकान जैसी समस्यायें होने लगती है।

पाचन तंत्र को मजबूत बनाने के लिए क्रैनबेरी का सेवन किया जा सकता है। क्रैनबेरी में फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट तत्व मौजूद होते है जो पाचन क्रिया को बेहतर बनाने का काम करते हैं। इसके साथ ही शरीर को हानिकारक बैक्टीरिया और रोगाणुओं बचने में मदद करता है।

अन्य पढ़ें –

Leave a Comment