गठिया को जड़ से खत्म करने के उपाय | Gathiya Ka Ilaaj

गठिया को जड़ से खत्म करने के उपाय – गठिया रोग एक गंभीर बीमारी है जिससे अधिकांश लोग परेशान रहते हैं। यह रोग ज्यादातर बुजुर्गों को पर हावी होता है जिनकी उम्र 40 के पर हो जाती है। गठिया रोग होने से से पीड़ित के शरीर में सूजन, जोड़ो में दर्द, और उठने, बैठने, चलने-फिरने में परेशानी होती है।

कई बार पीड़ित के शरीर में तेज दर्द भी शुरू हो जाता है जो बहुत असहनीय हो जाता है। आज के इस पोस्ट में हम विस्तार से जानेगे कि गठिया रोग क्या है और गठिया को जड़ से खत्म करने के उपाय और घरेलू उपचार क्या-क्या हैं।

अर्थराइटिस क्या है (What is Arthritis in Hindi)

गठिया को जड़ से खत्म करने के उपाय

अर्थराइटिस की समस्या तब होती है जब शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा सामान्य स्तर से अधिक होने लगती है। आमतौर पर यह रोग पैर के अंगूठे के जोड़ों से शुरु होता है और धीरे-धीरे शरीर के दूसरे जोड़ो तक भी फैल जाते है। जिसके बाद जोड़ो में सूजन और असहनीय दर्द होता है।

गठिया रोग होने पर पीड़ित को जोड़ों को घुमाने, मोड़ने और कोई भी काम करने में समस्या होती है। गठिया रोग सामान्यतः 40 वर्ष से अधिक उम्र के लोगो में पाया जाता है। और पुरुषों के मुकाबले महिलायें इस रोग से ज्यादा प्रभावित होती है।

गठिया के कारण (Causes of Arthritis in Hindi)

हमारा आहार और जीवन शैली गठिया रोग होने के पीछे का सबसे बड़ा कारण है। इसके अलावा भी अन्य कई कारण हो सकते हैं जैसे –

  • गठिया रोग होने के पीछे अनुवांशिक कारण भी हो सकता है।
  • इम्युनिटी पॉवर कमजोर होने से अर्थराइटिस के चान्सेस बढ़ जाते हैं।
  • हड्डियों के जोड़ में कोई गहरीचोट लगने के कारण।
  • शरीर में किसी बैक्टीरिया या वायरस होने के कारण।

गठिया रोग को जड़ से खत्म करने के उपाय – Gathiya Rog Ke Gharelu Upay

गठिया रोग व्यक्ति के आंतरिक भाग और जोड़ों पर प्रभाव डालता है जिसके कारण व्यक्ति को असहनीय दर्द का सामना भी करना पड़ता है। अर्थराइटिस के तीव्र दर्द को कम करने के लिए कुछ घरेलू उपाय कर सकते हैं।

(1) लहसुन का प्रयोग

गठिया से ग्रसित रोगियों को लहसुन का सेवन करना चाहिए इससे अर्थराइटिस में बहुत आराम मिलता है। इसके लिए आप कच्चे लहसुन की 3-4 कलियों का रोजाना सुबह खाली पेट पानी के साथ सेवन कर सकते हैं। अगर आपको ऐसे लहसुन खाना पसंद नहीं है तो आप सब्जी में इसकी मात्रा बढ़ाकर सेवन सकते हैं।

(2) अदरक का प्रयोग

गठिया रोग को जड़ से खत्म करने के उपाय में अदरक का इस्तेमाल किया जा सकता है। अदरक में एंटी ऑक्सीडेंट्स और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण पाया जाता है जो आपकी जोड़ों की सूजन और दर्द को कम करने में कारगर होता है। इसके लिए आप सुबह-शाम अदरक वाली चाय का पी सकते हैं।

इसके अलावा अदरक के तेल को दर्द वाली जगह पर लगाकर मालिश करें, बहुत आराम मिलता है।

(3) सरसों का तेल

गठिया के दर्द और सूजन को कम करने के लिए सरसों के तेल से मालिश करना बहुत ही अच्छा विकल्प माना जाता है। इसके लिए सरसों का तेल को हल्का सा गुनगुना कर लें और प्रभावित क्षेत्रों पर मसाज करें। ऐसा करने से जोड़ों में खून का संचार अच्छी तरह से होने लगता है जिससे दर्द से राहत मिलती है।

(4) हल्दी का प्रयोग

हल्दी में एक आयुर्वेदिक औषिधि है जिसका इस्तेमाल गठिया की समस्या से पाने के लिए कर सकते हैं। हल्दी में करक्यूमिन नामक एक तत्व पाया जाता है जो दर्द निवारक के रूप में काम करता है। गठिया के दर्द को दूर करने के लिए आप एक गिलास गर्म दूध में एक चम्मच हल्दी मिलाकर पी सकते हैं।

(5) सेब का सिरका

गठिया रोग को जड़ से खत्म करने के उपाय में सेब का सिरका कारगर माना जाता है। सेब का सिरका में कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटेशियम, फास्फोरस जैसे मिनरल्स मौजूद होते हैं जो जोड़ों के दर्द से राहत दिलाने में असरदार होते हैं। इसके लिए आप रोज सुबह एक कप गर्म पानी में एक चम्मच एप्पल साइडर विनेगर और शहद मिलाकर पी सकते हैं।

(6) मुलेठी का प्रयोग

गठिया रोग का घरेलू उपचार करने के लिए मुलेठी को शामिल किया जा सकता है। मुलेठी में ग्लाइसिराइजिन नामक प्रमुख तत्व पाया जाता है,जो गठिया के दर्द से राहत दिलाने में असरदार होता हैं। मुलेठी का स्वाद बहुत अच्छा होता है। इसलिए आप इसे दूध में मिलाकर आसानी से सेवन कर सकते हैं।

(7) अश्वगंधा का प्रयोग

अश्वगंधा एक प्राकृतिक औषधीय है जिसका इस्तेमाल दर्द निवारण रूप में किया जा सकता है। गठिया रोग को जड़ से खत्म करने के उपाय करने के लिए अश्वगंधा चूर्ण को पानी में मिलाकर सुबह और शाम को पी सकते हैं। इससे गठिया के दर्द और सूजन कम होगी साथ ही शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत होगी।

(8) मेथी का प्रयोग

मेथी में एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटी आर्थराइटिक के गुण पाए जाते हैं जो गठिया के दर्द को कम करने में कारगर होते हैं। गठिया रोग को जड़ से खत्म करने के उपाय करने के लिए सबसे पहले आप 2 चम्मच मेथी को पानी में उबाल लें। उसके बाद जब पानी ठंडा हो जाए तो छानकर इसका सेवन करें।

(9) अरंडी का तेल

अरंडी का तेल में एंटी इन्फ्लेमेटरी तत्व मौजूद होते हैं जो दर्द निवारण के रूप में काम करता है। गठिया और जोड़ो के दर्द को दूर करने के लिए अरंडी के तेल में अजवाइन और कपूर मिलाकर हल्का गर्म कर लीजिये। इसके बाद इस तेल को दर्द वाली जगह पर हल्के-हल्के हाथों से मालिश करें। ऐसा करने से अर्थराइटिस, जोड़ों में दर्द व अकड़न जैसी समस्या दूर हो जायेगी।

(10) तुलसी का प्रयोग

तुलसी एक आयुर्वेदिक और पवित्र पौधा होता है। गठिया का घरेलू उपचार करने के लिए तुलसी का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके लिए आप रोजाना 3 से 4 तुलसी के पत्ते चबाकर खा सकते हैं। इसके अलावा तुलसी की चाय बनाकर भी पी सकते हैं।

अन्य पढ़ें –

निष्कर्ष

मैं आशा करता हूँ कि आपको यह पोस्ट गठिया को जड़ से खत्म करने के उपाय (Gathiya Ka Ilaaj) जरूर अच्छी लगी होगी। यह पोस्ट केवल सामान्य जानकारी पर आधारित है। इसलिए इस पर अमल करने से पहले किसी डॉक्टर या विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें। यह ब्लॉग इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Leave a Comment