गुड़हल के चमत्कारी फायदे – Benefits of Hibiscus in Hindi

 गुड़हल एक सुन्दर और आकर्षक फूल होता है। गुड़हल को जवाकुसुम के नाम से भी जाना जाता है। गुड़हल का फूल देखने में जितना ख़ूबसूरत होता है उनता ही उसमें औषधीय गुण पाए जाते है। गुड़हल का फूल का इस्तेमाल करने से कई स्वास्थवर्धक लाभ होते हैं साथी कई रोगों को ठीक करने में किया जाता है।

गुड़हल का पौधा सदाबहार पौधा होता है जिसमे हमेशा फूल और चमकदार पत्तियां रहती हैं। इसके पौधे को बाग-बगीचे, घर,मंदिरों और अन्य कम जगह में लगाया जाता है। गुड़हल के पौधे के आकार लगभग 10-15 फिट तक होता है। और इसके फूल के रंग कई प्रकार के होते हैं जैसे लाल, पीला, और सफ़ेद।

गुड़हल के फायदे – Gudhal Ke Phool Ke Fayde

gudhal ke phool ke fayde hibiscus hindi

गुड़हल का फूल की पैदावार भारत और दुनिया के कई देशों में की जाती है। गुड़हल की कई प्रजातियाँ होती हैं लेकिन लाल गुड़हल सबसे ज्यादा पाया जाता है। देवी-देवताओं की पूजा करने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है। इसके अलावा स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं लिए जैसे त्वचा, बाल संबंधी परेशानियों के लिए गुड़हल का फूल बहुत लाभकारी माना जाता है। तो चलिए विस्तार से जानते हैं कि गुडहल के फूल के फायदे क्या-क्या होते हैं।

1.) बालों के लिए गुड़हल के फूल के फायदे

काले और घने बाल हर व्यक्ति की ख्वाइश होती है। आजकल भागदौड़ भरी ज़िंदगी में लोगो के कम उम्र में बाल कमजोर होकर झड़ने लगते है। एक अध्ययन के अनुसार, पुरुषों में महिलाओं की तुलना बाल झड़ने की समस्या ज्यादा होती है। 

अगर आप भी बाल झड़ने की समस्या से परेशान है तो बालों के फूल का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए गुड़हल के फूलों का रस निकलकर उसमे बराबर मात्रा में जैतून का तेल मिलाकर गर्म कर लीजिये। ठंडा होने पर इस तेल से बालों की जड़ों तक लगाने से बाल स्वस्थ और  मजबूत होते हैं।

2.) त्वचा के लिए गुड़हल के फायदे

दाग धब्बे और मुँहासे रहित सुन्दर त्वचा हर किसी की चाहत होती है। कई लोग त्वचा को खूबसूरत बनाने के लिए दवाइयों का सेवन करते है इससे फायदे कम और नुकसान ज्यादा होने के खतरा रहता है। स्वस्थ और चकदार त्वचा के लिए गुड़हल का इस्तेमाल किया जा सकता है।

गुड़हल में आयरन, विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट तत्व मौजूद होते हैं जो की हमारे चेहरे की दाग धब्बे, झुर्रियां, मुँहासे को ठीक करने में मदद करते हैं। इसके लिए लाल गुड़हल की पत्तियों को पानी में उबाल कर, फिर इसे पीसकर पेस्ट बना लीजिये। अब इस पेस्ट में थोड़ा सा शहद मिलाकर चेहरे पर लगाएं। इससे चेहरे का रूखापन दूर होगा और त्वचा निखारने लगेगी।

3.) वजन कम करने में गुड़हल के फायदे

मोटापा एक गंभीर समस्या है जो अपने साथ कई बिमारियों को जन्म देती है। अकेले भारत में मोटापे से करोड़ों लोग परेशान है। व्यक्ति का सामान्य वजन से अधिक वजन बढ़ने के कई कारण हो सकते हैं जैसे अस्वस्थ खान-पान, गलत दिनचर्या और शारीरिक गतिशीलता में कमी।

वजन कम करने में गुड़हल का इस्तेमाल कर सकते हैं। गुड़हल का सेवन करने से बार-बार भूख नहीं लगती है जिससे हम अतिरिक्त भोजन करने से बचते है। इसके अलवा गुड़हल शरीर से ग्लूकोज की मात्रा को अवशोषित करके शरीर की अतिरिक्त चर्बी को कम करने में मदद करता है जिससे मोटापा घटने लगता है।
 

4.) सर्दी- जुकाम को दूर करने में गुड़हल के लाभ

सर्दी जुकाम एक आम बीमारी है जो मौसम परिवर्तन होने पर लोगो को हो जाती है। सर्दी जुकाम होने पर रोगीको कई समस्याएं होने लगती है जैसे सिरदर्द, नाक बहना, बलगम, बुखार, आँखों में खुजली होना, गले में खराशे, बदन दर्द आदि हैं। 

सर्दी- जुकाम से निजात पाने के लिए गुड़हल की पत्तियों का इस्तेमाल किया जाता है। गुड़हल की पत्तियों में विटामिन सी की भरपूर मात्रा पाई जाती है जो सर्दी-जुखाम में राहत देता है। इसके लिए आप गुड़हल की पत्तियों से बनी चाय का रोजाना सेवन कर सकते हैं।
 

5.) एनीमिया के लिए करें गुडहल के फूल का इस्तेमाल

जब शरीर में आयरन की कमी हो जाती है, तो एनीमिया रोग या खून की कमी हो जाती है। एनीमिया रोग होने पर पीड़ित को कई समस्याएं होने लगती है जैसे सांस लेने में तकलीफ, थकान, सिरदर्द, चक्कर आना ,नाखून टूटने आदि। एक शोध के अनुसार महिलाओं को एनीमिया रोग पुरुषों की तुलना में ज्यादा होता है।

एनीमिया रोग से छुटकारा पाने के लिए गुड़हल के फूल का इस्तेमाल किया जा सकता है। गुड़हल के फूल में आयरन उच्च मात्रा में पाया जाता है जो शरीर का खून बढ़ाने में मदद करता है। इसके लिए आप गुड़हल के फूल को पीसकर उसके रस निकलकर डिब्बे में भर लें। अब इस रस को रोजाना दूध के साथ पीने से एनीमिया की समस्या दूर हो जाएगी।
 

6.) गुडहल के लाभ कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करने में

कोलेस्ट्रोल शरीर के कई कार्यों को करने के लिए जिम्मेदार होता है। लेकिन जब कोलेस्ट्रॉहल की मात्रा सामान्य स्तर से अधिक बढ़ जाती है तो शरीर को हार्ट संबंधी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए स्वस्थ शरीर के लिए कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित रखना बहुत आवश्यक होता है।

गुड़हल की पत्तियों का इस्तेमाल करने से कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित रहता है। गुड़हल की पत्तियों में मौजूद हाइपोलिपिडेमिक और हाइपोग्लाइसेमिक गुण LDL (खराब कोलेस्ट्रॉल) को कम करके और HDL (अच्छे कोलेस्ट्रॉल) को बनाने में मदद करता है।
 

7.) मासिक धर्म में गुड़हल के फायदे

मासिक धर्म की अनियमिता एक आम समस्या है जिसका है जिसका सामना अधिकतर महिलाओं को करना पड़ता है। सामान्य मासिक चक्र 28 दिनों का होता है। कभी-कभी इसके सात दिन ऊपर या नीचे हो सकता तो यह सामान्य माना जाता है लेकिन अगर ऐसा बार बार होता है तो आपको इसका इलाज करना चाहिए।

महिलाओं में होने वाले मासिक धर्म की अनियमिता को दूर करने के लिए गुड़हल का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके लिए आप गुड़हल के पत्तों से बनी चाय का सेवन कर सकते है।

अन्य पढ़ें –

Leave a Comment