यूरिक एसिड को जड़ से खत्म करने का उपाय | Uric Acid Ka Ilaj

यूरिक एसिड को जड़ से खत्म करने का उपाय – शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने से कई प्रकार की समस्याएं होने लगती है जैसे जोड़ों का दर्द होना ब्लड प्रेशर बढ़ना, घुटनों में दर्द और सूजन, उठने बैठने में परेशानी होना, थकान महसूस होना आदि।

अगर आपके साथ भी कुछ इस प्रकार की समस्याएं है तो समझ जाइए कि आपके शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ रही है। यूरिक एसिड को नियंत्रित करने के घरेलू उपचार भी किया जा सकता है। आज के इस पोस्ट में हम विस्तार से जानेगे कि यूरिक एसिड क्या है, इसके कारण, लक्षण और यूरिक एसिड को जड़ से खत्म करने का उपाय और घरेलू नुख्से कौन-कौन से हैं।

यूरिक एसिड क्या है (What is Uric Acid in Hindi)

यूरिक एसिड को जड़ से खत्म करने का उपाय

यूरिक एसिड एक प्रकार का अपशिष्ट पदार्थ होता है। किडनी हमारे शरीर के अपशिष्ट पदार्थों को बाहर निकालने का काम करती है। लेकिन जब किडनी कमजोर होने लगती है या ठीक तरीके से काम नहीं करती है तो शरीर में यूरिक एसिड इकट्ठा होने और बढ़ने लगता है।

जब खून में सामान्य से अधिक मात्रा में यूरिक एसिड का स्तर बढ़ जाता है तो उसे हाइपर्यूरिसीमिया कहते है। शरीर में यूरिक एसिड का स्तर अधिक होने सइ गाउट, गठिया रोग, हड्डियों और जोड़ों में दर्द जैसी कई सारी समस्याएं होती है।

यूरिक एसिड बढ़ने के कारण (Causes of Uric Acid in Hindi)

यूरिक एसिड बढ़ने के कई कारण हो सकते हैं तो चलिये इनके बारे में जानते हैं-

  • किडनी में खराबी या ठीक तरह से काम न करने से।
  • हाई ब्लड प्रेशर की समस्या के कारण।
  • डायबिटीज की समस्या के कारण।
  • थायराइड की समस्या के कारण।
  • अत्यधित शराब पीने से।
  • शरीर में आयरन की मात्रा अधिक होने से।
  • मोटापा की समस्या के कारण।

यूरिक एसिड के लक्षण (Symptoms of Uric Acid in Hindi)

यूरिक एसिड बढ़ने के निम्नलिखित लक्षण हो सकते हैं –

  • जोड़ों में दर्द होना।
  • पैरों, जोड़ों, उंगलियों, गांठों में सूजन आना।
  • उठने-बैठने, चलने-फिरने में परेशानी होना।
  • सुबह-शाम जोड़ों में अकडन और दर्द होना।
  • एक स्थान पर ज्यादा देर तक बैठे रहने से पैरों की एड़ियों में सहन न होने वाले दर्द होना।

यूरिक एसिड को जड़ से खत्म करने का उपाय – Uric Acid Kam Karne Ke Upay

किसी भी बीमारी को ठीक करने के लिए सही आहार और सही दिनचर्या का होना बहुत जरूरी है। यूरिक एसिड को नियंत्रित कुछ घरेलू उपाय कर सकते हैं। तो चलिए जानते हैं कि यूरिक एसिड को जड़ से खत्म करने का उपाय और घरेलू तरीके कौन-कौन से हैं।

(1) सेब का सिरका

बढ़े यूरिक एसिड के स्तर को कम करने के लिए सेब का सिरका बहुत कारगर माना जाता है। सेब का सिरका एक डिटॉक्स (Detox) मेडिसिन के रूप में काम करता है जो यूरिक एसिड के तत्वों को तोड़कर उन्हें शरीर से बाहर निकालने में मदद करता है। इसके लिए आप रोजाना दिन में 3 बार एक गिलास पानी में एक चम्मच सेब का सिरका डालकर पी सकते हैं।

(2) नींबू का प्रयोग

यूरिक एसिड को जड़ से खत्म करने का उपाय में नीबू का इस्तेमाल किया जा सकता है। नींबू में विटामिन-सी भरपूर मात्रा पाई जाती है और यह अल्कलाइन एसिड की मात्रा को भी बढ़ाता है। सुबह उठकर एक गिलास गुनगुने पानी में नींबू निचोड़कर सेवन करने से यूरिक एसिड नियंत्रित रहता है।

(3) चेरी का प्रयोग

चेरी में कई ऐसे तत्व मौजूद होते हैं जो यूरिक एसिड नियंत्रित करने में मदद करते हैं। इसके लिए आप 2 से 3 हफ्ते तक एक या आधा कप चेरी रोजाना खाएं या जूस बनाकर भी पी सकते हैं।

(4) बेकिंग सोडा

बेकिंग सोडा बढ़े हुए यूरिक एसिड का स्तर कम करने के लिए बहुत अच्छा उपाय माना जाता है। इसके लिए आप एक गिलास पानी में आधा चम्मच बेकिंग सोड़ा मिलाकर घोल बना लें, अब इस घोल को रोजाना पीने से यूरिक एसिड नियंत्रित रहता है।

(5) जैतून के तेल

जैतून के तेल में विटामिन ई और एंटीऑक्सीडेंट्स तत्व मौजूद होते है साथ ही इसमें सूजनरोधी गुण पाए जाते हैं जिसका इस्तेमाल यूरिक एसिड को नियंत्रित करने के लिए किया जा सकता है। इसके लिए आप सब्जियों में अन्य तेल के बजाय जैतून के तेल का इस्तेमाल करना शुरू कर सकते हैं।

(6) अजवाइन का प्रयोग

बढ़े हुए यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए अजवाइन का सेवन करना बेहद कारगर उपाय होता है। अजवाइन में ओमेगा 3 फैटी एसिड मौजूद होता है जो यूरिक एसिड को कंट्रोल करने में असरदार होता है। इसके लिए आप रोजाना खाली पेट अजवाइन का पानी पी सकते है। इसके अलावा इसका प्रयोग खाना पकाते वक्त भी कर सकते है।

(7) अलसी का प्रयोग

अलसी में ओमेगा-3 फैटी एसिड और फाइबर की भरपूर मात्रा पाई जाती है जिसका इस्तेमाल यूरिक एसिड को कण्ट्रोल करने के लिए किया जा सकता है। यूरिक एसिड को जड़ से खत्म करने का उपाय करने के लिए भोजन के आधे घण्टे बाद अलसी के बीज को चबाकर खा सकते हैं। इसके अलावा अलसी का लड्डू के रूप में भी सेवन कर सकते हैं।

(8) पानी पियें

शरीर को हाइड्रेट रखने के लिए हमें रोजाना पर्याप्त मात्रा में पानी पीना चाहिए। शरीर में पानी की पर्याप्त मात्रा होने से यूरिक एसिड नियंत्रित रहता है। इसलिए थोड़े-थोड़े समय में रोजाना पानी पीते रहना चाहिए। सामान्यतः एक मनुष्य को पूरे दिन में 8 से 10 ग्लास पानी ज़रूर पीना चाहिए।

(9) आंवला का प्रयोग

यूरिक एसिड को जड़ से खत्म करने का उपाय में आंवला का प्रयोग किया जा सकता है। इसके लिए आंवले का रस को एलोवेरा जूस में मिलाकर पी सकते हैं। ऐसा करने से शरीर में यूरिक एसिड नियंत्रित रहता है।

(10) अश्वगंधा का प्रयोग

अश्वगंधा एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है जो कई प्रकार की बीमारियों को ठीक करने में असरदार होती है। अगर आप यूरिक एसिड की समस्या से जूझ रहे हैं तो एक गिलास गुनगुने दूधे में एक चम्मच अश्वगन्धा पाउडर और एक चम्मच शहद मिलाकर पियें। यहाँ पर ध्यान देने वाली बात यह है कि गर्मी के मौसम में अश्वगंधा पाउडर का उपयोग कम मात्रा में करें।

अन्य पढ़ें –

निष्कर्ष

मैं आशा करता हूँ कि आपको यह पोस्ट यूरिक एसिड को जड़ से खत्म करने का उपाय (Uric Acid Ka Ilaj) जरूर अच्छी लगी होगी। यह पोस्ट केवल सामान्य जानकारी पर आधारित है। इसलिए इस पर अमल करने से पहले किसी डॉक्टर या विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें। यह ब्लॉग इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Leave a Comment